Trainees in Evening

शाम हे सुहानी, माहोल हे सुहाना।
ऑफ़्लाइन हो ने का वक्त नज़दीक हे।
लेकिन क्या करे फिर एक Q&A का वक्त हे।
और हमारा हाल बे हाल हे।

%d bloggers like this: